Head, Department of Economics, AU:

B.A. III (Economics) Viva-Voce Second Examination 2018 will be held on 11 October, 2018 at 12:00pm in Economics Department, University of Allahabad.

डेलीगेसी, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इलाहाबाद
सचिव महोदय के आदेशानुसार डेलीगेसी कार्यालय में क्रिकेट ट्रायल का फार्म जमा करने की अंतिम तिथि 11/10/2018 है। साथ ही 11 तारीख को 4 बजे जक कार्यालय से सभी प्रतिभागियों के फार्म स्र्पोटस बोर्ड विभाग को भेज दिया जायेगा।
Head, Department of Electronics & Communication, AU:
All the eligible candidates who are interested in taking admission in D.Phil. course in Electronics & communication Engineering are required to submit their applications with all testimonials in the office of the Department of Electronics & Communication latest by 23.10.2018.

Sports Director, Sports Board, AU

This is bring to your kind Notice that Selection Trial of Badminton which was postponed under some Circumstances that will be held on 10/10/2018 on 4.30 pm Sharp at Badminton Court Police Head Quarters Civil Lines Allahabad.Contact for any Assistance Mr Mohd Sabir Sports Trainer University of Allahabad 9919186900.
The selection and trials of Allahabad University Football (Men) Team for Inter University Tournament 2018-2019 will be held on 11-10-2018 at 10:00 P.M in the Sports Board, AU. All the intersted players of the University and its constituent colleges are required to report with latest Identity Cards and fee receipt.

Head, Department of Sociology, AU
Kepping in view the announced One (1) seat in sociology for CRET 2018 and interview conducted by the DPC accordingly, the competent authority has apporoved the following candidates for the D.Phil Admission in Sociology in 2018
S.No Candidates Name Mother Name
1. Bhagyashree Ojha Sheela Ojha
The above mention candidate required to contact the Department, immediately for further action.

Coordinator, Centre of Bioinformatics, AU
Prof. MP Singh has been conferred with ‘Fellow’ AEB award. Prof. MP Singh, Coordinator, Centre of Biotechnology and Centre of Bioinformatics, has been conferred with prestigious ‘Fellow’ AEB Honour on the 38th Annual Session of the Academy of Environmental Biology and National Conference on Current Issues of Environmental Health, Climate Change and its Management on 3rd October 2018 at RML Avadh University, Faizabad

परीक्षा नियंत्रक, इ0वि0वि0ः
1. एम0ए0/एम0एस0सी0/एम0काम0 एवं एम0टेक0 चतुर्थ सेमेस्टर 2018 की द्वितीय परीक्षा 2018 दिनांक 11 एवं 12 अक्टूबर, 2018 को 11 बजे से 2 बजे के मध्य सम्पन्न होने वाली थी, अपरिहार्य कारणों से अगले आदेश तक स्थगित की जाती है।
2. एम0एड0 एवं बी0एड0 सत्र 2018 की द्वितीय परीक्षा दिनांक 11 अक्टूबर, 2018 को 11 बजे से 2 बजे के मध्य सम्पन्नहोने वाली थी, अपरिहार्य कारणों से अगले आदेश तक स्थगित की जाती है।
3. एम0बी0ए0/एम0बी0ए0 (आर0डी0)/एम0पी0एड0/बी0सी0ए0 चतुर्थ एवं फाईनल सेमेस्टर/ एम0सी0ए0 फाईनल सेमेस्टर/बी0पी0ई0, बी0म्यूज0 फाईनल वर्ष/ बी0पी0ए0 प्रथम एवं द्वितीय वर्ष/ बी0एफ0ए0 तृतीय वर्ष एवं फाईनल वर्ष, सत्र 2018 की द्वितीय परीक्षा 2018 दिनांक 11 अक्टूबर 2018 को 11 बजे से 2 बजे के मध्य सम्पन्न होने वाली थी, अपरिहार्य कारणों सेअगले आदेश तक स्थगित की जाती है।

Head, Department of Geography, AU:
Indian Institute of Geomorphologists (IGI) organised its 30th Annual Conference at Jamia Millia Islamia, New Delhi during 3 to 5 October, 2018 on the theme ‘Geomorphology, Environment and Society’. More than 200 delegates from all over India had participated in the conference and presented their research papers on different sub-themes related to geomorphology, a branch of Geography. In the meeting of Executive Council of IGI held at Jamia Millia Islamia on October 4, 2018 Prof.Subir Sarkar, Head, Department of Geography and Applied Geography, University of North Bengal, Darjeeling has been elected as President of IGI. Prof. A. R. Siddiqui of Geography Department, University of Allahabad has been elected Secretary-General of the GI for the third consecutive time. The Indian Institute of Geomorphologists aims to promote researches on methodological advancement in the field of geomorphology in India. The idea of formation of IGI was conceived by Prof. Savindra Singh, Geography Department, University of Allahabad during an International Conference on Geomorphology and Environment held from January 17 to 21, 1987 under his convenership in the Department of Geography, University of Allahabad. The following objectives were formulated- 1. To bring the entire earth scientist dealing with geomorphology and allied disciplines on a common platform under the banner of IGI.
2. To hold annual conferences at different places of the country.
3. To publish a research journal entitled Indian Journal of Geomorphology. Now it is Journal of Indian Geomorphology.
4. To coordinate researches being carried out on geomorphology and allied disciplines in different universities and laboratories in the country.
5. To encourage young research scholars doing researches in geomorphology by giving awards and certificates.
6. To give more emphasis on researches related to human society and its welfare such as environmental geomorphology, urban geomorphology, environmental hazards and disasters and their management on different spatial and temporal scales etc.
Till now 30 annual conferences of IGI with different focal themes have been organised at different places in India. IGI has also organised 9th International Conference on Geomorphology (9th ICG) last year at Vigyan Bhawan, New Delhi during 6 to 11 November 2017. This was the first international conference on geomorphology held in India and the second ICG in Asia that was organised in Tokyo (Japan) in 2001.
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जियोमॉर्फोलॉजिस्ट्स (आई.जी.आई.) ने जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली में 3 से 5 अक्टूबर,2018 के दौरान’जिओमॉर्फोलॉजी, एनवायरनमेंट एंड सोसाइटी’ विषय पर अपना 30 वां वार्षिक सम्मेलन आयोजित किया। पूरे भारत से 200 से भी अधिकप्रतिनिधियों ने सम्मेलन में भाग लिया और अपने शोध पत्र प्रस्तुत किए।
जामिया मिलिया इस्लामिया में 4 अक्टूबर,2018 को आयोजित आई.जी.आई. की कार्यकारी परिषद की बैठक में प्रोफेसर सुबीर सरकार, अध्यक्ष, भूगोल विभाग, नॉर्थ बंगाल विश्वविद्यालय, दार्जिलिंग को आई.जी.आई का अध्यक्ष एवं भूगोल विभाग, इलाहाबाद विश्वविद्यालय केप्रोफेसर ए. आर. सिद्दीकी को लगातार तीसरी बार आई.जी.आई. का महासचिव चुना गया। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जियोमॉर्फोलॉजिस्ट्स काउद्देश्य भारत में भूआकृति विज्ञान के क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देना है। आई.जी.आई. के गठन का विचार 17 से 21जनवरी, 1987 तक भूगोलविभाग, इलाहाबाद विश्वविद्यालय में भूआकृति विज्ञान और पर्यावरण विषय पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के दौरान प्रोफेसर सविंद्रसिंह द्वारा किया गया था। आई.जी.आई. का गठन निम्नलिखित उद्देश्यों की पूर्ति के लिए किया गया था-
1. आई.जी.आई. के बैनर के तहतभूआकृति विज्ञान और संबद्ध विषयों से सम्बंधित भू-वैज्ञानिक को एक मंच पर लाना।
2. देश के विभिन्न स्थानों पर वार्षिक सम्मेलन आयोजितकरना।
3. ‘इण्डियन जर्नल ऑफ जियोमोर्फोलॉजी’ नामक एक शोध पत्रिका प्रकाशित करना। अब यह शोध पत्रिका ‘जर्नल ऑफ इंडियनजियोमोर्फोलॉजी’ है।4. देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों में भूआकृति विज्ञान और संबद्ध विषयों पर किए जा रहे शोधों का समन्वय करना। 5. युवा शोधार्थियों को पुरस्कार और प्रमाण पत्र देकर भूआकृति विज्ञान में शोध करने के लिए प्रोत्साहित करना। 6. मानव समाज और उसकेकल्याण से संबंधित शोधों, जैसे पर्यावरणीय भूआकृति विज्ञान, शहरी भूआकृति विज्ञान, पर्यावरणीय आपदाओं और उनके प्रबंधन से सम्बंधितशोधों पर अधिक बल देना।भारत में विभिन्न स्थानों पर विभिन्न विषयों पर अब तक आई.जी.आई. की 30 वार्षिक सम्मेलनों का आयोजनकिया जा चुका है। आई.जी.आई. ने पिछले साल विज्ञान भवन, नई दिल्ली में 6 से 11 नवंबर 2017 के दौरान भूआकृति विज्ञान पर 9 वांअंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया था। यह भूआकृति विज्ञान पर आयोजित भारत में प्रथम और एशिया में दूसरा अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनथा । पहला अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन 2001 में टोक्यो (जापान) में आयोजित किया गया था।

Department of Geography, University of Allahabad organized a ‘Poster Presentation’ entitled “River Basin Development: Challenges and Prospect” on 09/10/2018 to celebrate ‘World Rivers Day’. The event was organized as a series of‘knowledge enhancement programme’running in the department.

The event was presided by Prof. S. S. Ojha, Head, Department of Geography. Chief Guest Pride of Geography, Emeritus Prof. H.N.Misra, the renowned geographer and Urban Environmental Scientist was welcomed by Prof. Ojha. Prof. Misra examined the posters and encouraged the students. In his address he shared his valuable experiences to the students and also expressed his best wishes for such events coming in future.

The event was convened by Prof. A. R. Siddiqui and responsibilities of organizing secretary were led by Dr. Vimal Kumar Jaiswal. More than 100 students of University of Allahabad and its constituent colleges presented posters on various dimensions of different rivers. The event was witnessed by Prof. Alok Dubey, Dr. Anupam Pandey, Dr. Ashwajeet Chaudhary, Dr. Vandana Shukla. Dr. Satish Singh, Dr. Ajay Sharma, Dr. Pradip Upadhyay, Mr. Bechan Yadav, Research Scholars and huge gathering of students. Prof. A. R. Siddiqui expressed vote of thanks.

भूगोल विभाग, इलाहबाद विश्वविद्यालय ने ‘विश्व नदी दिवस’के सन्दर्भ में “नदी घाटी विकास: चुनौतियाँ और संभावनाएं”विषय पर एक पोस्टर प्रस्तुतीकरण कार्यक्रम का आयोजन 09/10/2018 को किया I इस कार्यक्रम का आयोजन विभाग में चल रहे ‘ज्ञान संवर्धन कार्यक्रम’ की एक श्रंखला के रूप में किया गया I

कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो. एस. एस. ओझा, विभागाध्यक्ष,भूगोल विभाग ने किया I प्रो. ओझा ने मुख्य अतिथि भुगोल के गर्व ख्याति‍लब्‍ध भुगोलवेत्ता तथा नगरीये पर्यावरणीय विज्ञानी एमेरिटस प्रो0 एच0 एन0 मिश्र का स्वागत किया Iप्रो मिश्र ने छात्रों तथा छात्राओं द्वारा प्रस्तुत पोस्टर का अवलोकन तथा उनका उत्साहवर्धन किया I उन्होंने अपने संबोधन में अपने बहुमूल्य अनुभवों को छात्रों तथा छात्राओं से साझा किया तथा भविष्य में इस तरह के होने वाले अन्य आयोजनों के लिए शुभकामनायें प्रेषित किया I

कार्यक्रम का संयोजन प्रो. ए. आर. सिद्दीकी ने किया तथा आयोजन सचिव का दयित्व डॉ. विमल कुमार जायसवाल ने संभाला I विश्वविद्यालय तथा संबद्ध महाविद्यालयों के 100 से अधिक छात्रों तथा छात्राओं ने विश्व की विभिन्न नदियों के विभिन्न आयामों पर पोस्टर का प्रस्तुतीकरण किया I इस कार्यक्रम में प्रो. अलोक दुबे, डॉ. अनुपम पाण्डेय, डॉ,अश्वाजीत चौधरी, डॉ. वंदना शुक्ला, डॉ. सतीश सिंह,डॉ.अजय शर्मा, डॉ. प्रदीप उपाध्याय, श्री बेचन यादव, शोध छात्र तथा भारी संख्या में छात्र तथा छात्राएं उपस्थित थीं Iप्रो. ए. आर. सिद्दीकी ने धन्यवाद ज्ञापन किया

Leave a Reply