कार्यक्रम समन्वयक, राष्ट्रीय सेवा योजना, इलाहाबाद विश्वविद्यालय
Head, Department of Physical Education, AU
This is to inform to all MPED Students Sem –III, the midterm examination of Course code PHE-603: ICT And Educational Technology in Physical Education will be held on Nov 20, 2018 at 11:00 -12:00 noon in the department of Physical Education.
Sports Organiser, AU:
The selection and trials of Allahabad University Kho-Kho (Men) Team for Inter University Tournament 2018-19 will be held on 16/11/2018 at 03:00pm in the M C C Campus, AU: All the interested players of the University and its constituent colleges are required to report with latest Identity Cards and fee receipt in proper kit.
Head, Department of Electronics & Communication, AU:
  • Interview for CRET Level -2 in Electronics & Communication for session 2018-19.Interview for CRET Level 2 for D.Phil (Electronics & Communication) course will be held on 28thNovember, 2018 at 10:00am in the Department of Electronics & Communication, University of Allahabad. All the candidates who have qualifled level 1 are required to report in the department with all testimonials in original.
  • Interview for CRET Level -2 in Computer Science  for session 2018-19. Interview for CRET Level 2 for D.Phil (Computer Science) course will be held on 27th November, 2018 at 10:00am in the Department of Electronics & Communication, University of Allahabad. All the candidates who have qualifled level 1 are required to report in the department with all testimonials in original.
Registrar, AU:
On the request of Dr. Sanjeev Kumar, the Hon’ble Vice-Chancellor has been pleased to relieve him from the post of Internal Audit Officer of University of Allahbad with effect from 12/11/2018 (A/N).
अध्यक्ष, प्राचीन इतिहास,संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग, इ0वि0वि0ः
प्राचीन इतिहास विभाग में के्रट 2018 में प्रवेश हेतु वे सभी अभ्यर्थी जिन्होने आवेदन पत्र एव वाछित समस्त प्रपत्र विभाग में जमा किया है उनकी के्रट लेवल द्वितीय की परीक्षा (साक्षात्कार) प्राचीन इतिहास विभाग में दिनांक 21/11/2018 को प्रातः 09ः00 बजे होगी । अभ्यर्थी अपने साथ समस्त मूल प्रमाण पत्र अवश्य लायंे।
Coordinator, UGC, SAP-III DRS-III, Department of Economics, AU:
Prof. R.L. Bhatt, Department of Social Sectors & Development, Central University of Jammu, Jammu (J & K) will interact with the faculty members and research scholars of the Department of Economics & Sociology on 15/11/2018 at 2:30pm in Sociology Department, FCI Building. This interaction is being organized under the UGC SAP-III, DRS-III Programme of the Department of Economics, University of Allahabad. You are most cordially invited to attend & participate.
Section officer, Research Section, AU:
  • The Viva-Voce of Mr./Ms. Puneet Kumar Gupta, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Some Inferential Aspects of Life time Models” will be held on Novmber 19, 2018 at 12:00noon. at the Department of Statistics AU: by Prof. Sanjeev Kumar, and Prof. P.S.Pundir. Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid.
  • The Viva-Voce of Mr./Ms. Shubham Kaushik, candidate for the D.Phil. Degree of the University on the subject of his/her thesis titled as, “Critical Analysis of India s Trade Relations with Asean Since 2000” will be held on Novmber 22, 2018 at 11:00am. at the Department ofCommerce, AU: by Prof. A.K. Tiwari, and Prof. A.K Makvuya. Members of the Academic Council are invited to attend but no T.A./D.A. will be paid

निदेशक,इन्स्टीट्यूट आॅफ प्रोफेशनल स्ट्डीज, इलाहाबाद विश्वविद्यालय

इलाहाबाद (प्रयागराज)। हमारा समय वेब जर्नलिज्म का समय है। आज सारे अखबार, टेलीविजन और रेडियो वेब पर तो हैं ही साथ ही बहुत से ऐसे फार्मेट भी हमारे सामने हैं जो वेब पत्रकारिता को महत्वपूर्ण बना रहे हंै। वेब पत्रकारिता की सबसे बड़ी ताकत तो वे लोग बन गये हैं जो नागरिक पत्रकार के रूप में अपना योगदान दे रहे हैं। यह बात दिल्ली से आये वरिष्ठ टेलीविजन व वेब पत्रकार हर्ष वर्धन त्रिपाठी ने कही। श्री त्रिपाठी इलाहाबाद विश्वविद्यालय के सेन्टर आॅफ मीडिया स्ट्डीज में ’’न्यू मीडिया और वेब जर्नलिज्म’’ विषय पर विशेष व्याख्यान दे रहे थे। श्री त्रिपाठी ने कहा कि सोशल मीडिया के बढ़ते प्रयोग ने वेब पत्रकारिता को मजबूती दी है तो दूसरी तरफ विश्वसनीयता का प्रश्न भी उभारा है। उन्होंने कहा कि वेब पत्रकारिता जितनी अधिक प्रमाणिक है उससे भी कहीं अधिक अप्रमाणिक है। यही वजह है कि वेब पत्रकारिता को लेकर कई सार्थक प्रयोग किये जा रहे हैं ताकि पत्रकारिता के इस स्वरूप को विश्वसनीय आयाम दिया जा सके। श्री त्रिपाठी ने मीडिया के विद्यार्थियों को ब्लागिंग की दुनिया में हो रहे नये नये प्रयोगों और वेब पत्रकारिता में हिन्दी भाषा की उपस्थिति से भी रू-ब-रू कराया। उन्होंने राजनीतिक दलों द्वारा सोशल मीडिया के प्रयोग पर भी अपनी बात रखी। प्रारम्भ में सेन्टर आॅफ मीडिया स्ट्डीज के कोर्स कोआर्डिनेटर डा0 धनंजय चोपड़ा ने कहा कि वेब मीडिया ही भविष्य का मीडिया है। इस मीडिया ने साधारण जन को अपनी आवाज बुलन्द करने का मंच दिया है। आज देश भर में नागरिक पत्रकार लोगो की आवाज बन रहे हैं और जनहित के मुद्दों को दुनिया के सामने ला रहे हैं। एैसे मेें जरूरी है कि वेब मीडिया को लेकर सार्थक प्रयोग हों  और नई पीढ़ी को इसके समुचित उपयोग का प्रशिक्षण दिया जाय। अन्त मंे आभार ज्ञापन सचिन मेहरोत्रा ने किया। व्याख्यान में एम.वोक., बी.वोक. तथा बी.ए. मीडिया स्ट्डीज के विद्यार्थी मौजूद थे।

Leave a Reply